rich dad poor dad

Rich dad poor dad in hindi रिच डैड पुअर डैड – Book Review 2020

” क्या आप अमीर बनना चाहते हैं ?”

क्या आप जानना चाहते हैं कि अमीर लोग कैसे सोचते हैं ? कैसे वे अपने पैसो  का सही उपयोग करते हैं , निवेश करते हैं ? Rich dad poor dad in hindi Book में यह बताया गया हैं कि गरीब और Middle Class लोग ऐसी क्या गलती करते हैं जिससे वो और गरीब होते चले जाते हैं और अमीर लोग ऐसा कोन सा काम करते हैं जिससे वो और अमीर होते चले जाते हैं ?

अगर आपको जानना है तो इस Post के साथ बने रहिये और साथ ही ये भी जानेगे कि पैसो के बारे में अमीर लोग अपने बच्चो को ऐसा क्या सिखाते है, जो गरीब और middle class के माता-पिता नहीं सिखाते !

नमस्कार दोस्तों , स्वागत हैं आपका हमारी website readlore .com पर| आज आप ऐसी बुक का review पढ़ने वाले है जिसे पढ़कर आपके सोचने और देखने दोनों का नजरिया बदल जाएगा|

rich dad poor dad in hindi
Amazing Book

 Rich dad poor dad in hindi  किसे पढ़ना चाहिए ?

ये बुक हर उस इंसान को पढ़नी चाहिए जो अपनी life में अमीर बनना चाहते हैं, जो अपने सपनो को जल्दी पाना चाहते हैं , चाहे वो Student हो, Employee हो या Businessman हर कोई इस बुक को पढ़ सकता हैं और सीख सकता हैं कि पैसा किस तरह से काम करता हैं और पैसे से पैसा कैसे कमाया जाता हैं और वो लोग भी इसे पढ़ सकते हैं जो financial literacy के बारे में जानना चाहता हो|

Rich dad poor dad in hindi से हम क्या सीखने वाले हैं ?

  • Money Management ( पैसो को कैसे मैनेज किया जाता हैं )|
  • अपनी Problems से लड़कर उसे Opportunity में कैसे बदला जाता हैं|
  • Tax के बारे में |
  • अमीर लोग पैसे के लिए काम नहीं करते हैं बल्कि पैसा उनके लिए काम करता हैं |
  • सम्पति और दायित्व ( Assets and liabilities )के बारे में जानेगे और उनके बीच में क्या अंतर (Differences) होता हैं , इसे जानना हमारे लिए कितना Important है ?
  • सीखने के लिए काम करना पैसे के लिए नहीं |
  • Time Management ( सही समय पर शुरुआत करना ) |
  • बुक हमें सिखाती हैं कि सोचना कैसे हैं और पैसो को कैसे Control करना चाहिए ?
  • खुद पर Invest क्यों करना चाहिए ?

 लेखक (Author ) के बारे में  –

Robert Kiyosaki जो कि Rich Dad Poor Dad के लेखक हैं और ये multi -talented personality हैं | वे एक Businessman ,Investor ,Public Speaker ,Writer और Financial Knowledge worker भी है | रोबर्ट कियोसाकि जापानी अमेरिकी हैं जिनका जन्म हिलो ,हवाई में हुआ था|

उनका मानना हैं कि दुनिया को ज्यादा Businessman की जरूरत हैं ताकि वे ज्यादा से ज्यादा जॉब दे कर सके | उन्होंने 20 से भी ज्यादा Books लिखी हैं जिनमे से रिच डैड पुअर डैड बेस्ट सेलर और मोस्ट पॉपुलर मानी जाती हैं |

रोबर्ट कियोसाकि कहते हैं कि “लोगो के पास पैसा न होना या बहुत कम होने का मुख्य कारण ये हैं कि School और College में कई साल गुजरने के बाद भी पैसो के बारे में कुछ नहीं सिखाया जाता हैं | इसका नतीजा ये होता हैं कि वे पैसे के लिए काम करना तो सीख जाते हैं लेकिन ये कभी नहीं सिख पाते है कि पैसा उनके लिए किस तरह काम कर सकता हैं |”

इस Book के बारे में –

इस किताब कि Story कुछ इस तरह हैं कि राबर्ट कियोसाकि जो कि rich dad poor dad in hindi Book के लेखक हैं |उनके दो पिता थे , एक पिता जो पढ़े लिखे P.hd Holder थे ,वे सरकारी काम करते थे और सरकार को Tax देते थे इसके बावजूद भी वे जिंदगी भर गरीब ही रहे और गरीबी में ही मरे जिन्हे Robert पुअर डैड (गरीब पिता) कहते हैं |

उनके मरने के बाद वे अपने बच्चो के लिए कर्ज के अलावा कुछ छोड़कर नहीं जाते हैं | दरअसल गरीब पिता ही Robert के असली पिता थे, वही दूसरे ओर उनके दूसरे पिता जो उनके दोस्त माइक के पिता है, कम पढ़े लिखे और अमीर थे इसलिए Robert उन्हें rich dad (अमीर पिता) कहते हैं |

अमीर डैडी जो कि 8 वी पास भी नहीं थे वे अमेरिका के हवाई City के सबसे अमीर इंसान थे | वे बहुत सारी Company के मालिक थे जो Government को बहुत कम Tax देते थे और अपने बच्चो के लिए बहुत सारी जायदाद छोड़कर जाते हैं |

Rich dad poor dad book in hindi में दोनों डैडी के Conversation (बातचीत ) और उनकी सोच के बारे में बताया गया हैं | दोनों डैडीयो की सोच में जमीन आसमान का फर्क था खासकर पैसो के बारे में , लेकिन वे दोनों डैडी हमेशा सीखने पर फोकस करते थे, उन सारी बातों को Robert ने इस बुक में Share किया हैं |

मिसाल के तौर पर , गरीब डैडी कहते थे कि ” पैसे का प्रेम ही सारी बुराई की जड़ हैं |” जबकि अमीर डैडी की सोच इससे बिलकुल Opposite ( विपरीत ) थी वे कहते थे , ” पैसे की कमी ही सारी बुराई की जड़ हैं|”

दूसरा Example ये है की गरीब डैडी ये कहते थे की ” मै इसे नहीं खरीद सकता ” बल्कि दूसरे डैडी की बाते हमें सोचने पर मजबूर कर देती हैं , वे कहते थे की ” मै इसे कैसे खरीद सकता हूँ | ” यहाँ एक में , बात ख़त्म हो जाती है और दूसरे में हमारा दिमाग काम करना शुरू कर देता हैं |

दोनों डैडियो की बातो को सुनकर Robert हमेशा सोचते थे की उनको किसकी बाते मानना चाहिए और अंत में वे अपने अमीर डैडी की बाते मानते हैं और उन बातो पर अमल करते हैं |

Robert कहते हैं कि गरीब और Middle class लोगो के गरीब रहने का कारण ये होता हैं की बचपन से ही उनको स्कूल में Financial Education (वित्तीय शिक्षा ) नहीं दी जाती हैं चाहे फिर वो कोई भी शहर या गांव हो | हमें बस एक ही बात सिखाई जाती है की School जाओ , मेहनत करो और किसी Company में नौकरी करो और हम में से अधिकतर लोग यही करते हैं |

जबकि अमीर डैडी कहते हैं कि मेहनत करो ताकि तुम कंपनी बना सको | इस किताब में Financial एजुकेशन पर जोर दिया गया है और बताया गया हैं की यह शिक्षा हमारे लिए कितनी जरुरी हैं |

Robert ने इसमें ” चूहा दौड ” के बारे में बताया है  जिसका मतलब ये हैं कि सुबह उठो ,नौकरी पर जाओ ,मेहनत करो और शाम को घर वापस आओ और फिर ऐसे ही ये Routine ( दिनचर्या ) चलते रहती हैं और दुनिया के अधिकतर लोग यही करते हैं जबकि अमीर डैडी कुछ सीखते रहने की सलाह देते हैं ( जैसे कि अगर आप नौकरी करते हैं तो साथ में अलग कुछ New Skills सीखते रहो ) |

Rich dad poor dad in hindi में Financial Concept को बहुत ही आसान भाषा में और Diagram (चित्र ) के साथ बताया गया हैं जिससे इस किताब को पढ़ने और समझने में आसानी होती हैं | इस बुक में Assets ( संपत्ति ),Liabilities ( दायित्व ) ,Expenses (व्यय) and Income (आय )के बारे में बताया गया हैं |

मुझे इस Book कि एक बात ये अच्छी लगी की ये बुक हमें बताती हैं कि हमें Assets पर Focus करना चाहिए न कि Liabilities पर , अधिकतर गरीब और मिडिल क्लास लोग Liabilities पर फोकस करते हैं |इसलिए वे गरीब ही रह जाते हैं |

यहाँ पर Asset का मतलब है की वो चीजे जो आपके जेब में पैसा डालती है और Liability का मतलब वो चीजे जो आपके जेब से पैसे निकलवाती हैं |

इसे हम एक Example के जरिये समझते हैं माना कि हमें एक घर खरीदना है तो हम में से ज्यादातर लोग ये करते है कि अपनी Income ( आय ) से Direct घर खरीद लेते हैं और फिर उसके Maintenance के लिए electricity ( बिजली )का बिल , पानी का बिल ,Tax,EMI ये सब चुकाना पड़ता हैं जो की उनके लिए Asset नहीं Liabilities होती हैं |

अगर आपका घर आपको पैसे दे रहा है तब ये Asset हुआ | अगर आप घर या गाड़ी लेना चाहते है तो सबसे पहले आप अपना पैसा सही जगह इन्वेस्ट ( निवेश ) करो फिर लो |
तो मुझे आशा हैं कि आपको Assets और Liability के बारे में समझ आ गया होगा | तो ऐसे ही बहुत से Examples इस किताब में बताये गए है जो की आपकी सोच को बदलने की ताकत रखते हैं |

Rich dad poor dad in hindi
Here, The difference between property and liability is explained.

अगर आपको अमीर बनना हैं तो आपको संपत्ति (Assets) पर ध्यान देना होगा जैसे की Real estate , शेयर बाजार इन सब में निवेश (Invest) करना होगा , ना कि Liabilities में |

Rich dad poor dad in hindi में एक बहुत महत्वपूर्ण  बात बताई गई हैं जो की  Tax के बारे में हैं|गरीब और मिडिल क्लास लोग नौकरी करके अपनी आय का आधे से ज्यादा पैसा सरकार को Tax के रूप में देते हैं जबकि अमीर लोग ऐसा नहीं करते हैं वे Company खरीदते है और Dividend (लाभांश ) Pay करते हैं , Dividend से जो Tax कटता हैं वो बहुत कम होता हैं |

Dividend का मतलब होता हैं कि किसी कंपनी के लाभ में भागीदारों का कुछ हिस्सा होता है जो वह कंपनी लाभ कमाने पर अपने शेयरधारकों को देती है।

अब कुछ ऐसे बाते जो मुझे इस बुक में अच्छी नहीं लगी –

इस Rich dad poor dad in hindi में कुल 9 अध्याय (Lessions) हैं लेकिन Last के जो  3 अध्याय (Lessions) हैं वो बहुत दिलचस्प हैं और इन 3 अध्याय (lessions) में ही बताया गया हैं की आपको वास्तव में (Practically) क्या चीजे फॉलो करना चाहिए ,आपको कहा निवेश (Invest) करना चाहिए जिससे आप जल्दी अमीर बन सकते हैं |

About Book

शुरुआत के जो अध्याय (Lessions) बताये गए हैं उन्हें जरुरत से ज्यादा लम्बा खींचा गया हैं उन्हें इतना लम्बा ना खीचते हुए अगर  Short में भी बताया गया होता तो मेरे हिसाब से ज्यादा अच्छा होता | और दूसरी बात ये कि इसमें ज्यादा स्टोरी शेयर की गई है जो मुझे पसंद नहीं आई क्योकि कंटेंट बहुत लम्बा हो जाता हैं और लम्बा और ज्यादा Content , Popular हो ये जरुरी नहीं हैं |

Rich dad poor dad बुक के हर एक अध्याय (Chapter) को पढ़ने के बाद मुझे ये समझ आया कि Robert ने सब कुछ बताते हुए भी कुछ नहीं बताया , जैसे कि पैसे को निवेश (Invest) तो करना चाहिए लेकिन ” कैसे ” करना चाहिए ये नहीं बताया गया है | Robert बताते है कि इंसान जैसा होता हैं वैसे ही वह अपनी (advice) राय दुसरो को देता हैं जिसका आपके काबिलियत से कोई मतलब नहीं होता हैं |

इसे हम एक Example से समझते है “अगर आप अमीर बनना चाहते हो और आप किसी ऐसे इंसान से सलाह (Advice) लेते हो जो 9 to 5 की Job करता हैं तो वह आपको कभी नहीं बता सकता की अमीर कैसे बना जाता हैं ,आपको ऐसे इंसान से राय लेनी होंगी जो पहले से ही अमीर हो या वह अपनी जिंदगी में सफल हुआ हो “|

इस बुक में एक बोर्ड गेम के बारे में बताया गया है जिसे Cash Flow Game कहा जाता है , इस गेम को Robert और उनकी पत्नी Kim ने तरह बनाया हैं की बच्चे और बड़े दोनों इसे खेल सकते हैं | इस बोर्ड Game के बारे में जानने से पहले हमें उन तीनो Income (आय ) के बारे में जानना होंगा जो कि इस Game में और हमारे जिंदगी में बहुत ही Important role play करते हैं |

Rich dad poor dad in hindi

Accounting (लेखांकन ) की दुनिया में Income ( आमदनी ) तीन तरह कि होती है – सामान्य अर्जित , पोर्टफोलियो और निष्क्रिय |

  • सामान्य अर्जित आय ( Common earned income ) , ये वो आय होती है जो हम नौकरी से कमाते हैं |
  • पोर्टफोलियो आय वो होती हैं जो शेयर , bond (बॉन्ड ) जैसे पेपर Assets ( संपत्ति ) से प्राप्त होती हैं |
  • निष्क्रिय आय वो होती है जो Investment (निवेश ) जैसे Real estate से प्राप्त होती हैं |

सरकार सामान्य अर्जित आय पर सबसे ज्यादा Tax लगाती हैं क्योकि आप सरकार के लिए काम करते हो और उनके लिए कड़ी मेहनत करते हो जबकि निष्क्रिय आय (Passive Income ) पर सरकार सबसे कम Tax लगाती हैं क्योकि वहाँ आपका पैसा मेहनत करता हैं आप नहीं |

अब इस Board Game के बारे जानते है जिसे Cash Flow Game भी कहा जाता हैं , इस Board गेम को इस तरह तैयार किया गया है की यह सामान्य अर्जित आय को निष्क्रिय और पोर्टफोलियो आय में बदलने की बुनियादी निवेश योग्यताएँ ( Basic Investment Qualification ) सिखाता हैं | ये Game  वित्तीय साक्षरता (Financial Literacy )और लेखांकन (अकाउंटिंग) के सिद्धांतो के बारे में में सिखाता हैं|

अगर आपको इस Board Game के बारे में और अच्छे से जानना हो तो आप यहाँ से जान सकते हो |

इस बुक को पढ़ने के बाद मैं इससे बहुत प्रेरित हुआ हूँ क्योंकिअचानक से मेरा ध्यान मेरे Wallet (पर्स ) पर चला गया है की मुझे पैसे बचाना है ताकि मै  उन पैसो का  इस्तेमाल करके सही जगह निवेश  (Invest) कर सकूँ | इससे पहले मैंने Financial Education के बारे में कही पढ़ा नहीं था क्योकि हमें School और College में ये विषय नहीं सिखाया गया हैं|

लेकिन इस बुक को पढ़ने के बाद मुझे  वित्तीय शिक्षा  (Financial Education) के बारे में पता चला है और मुझे ऐसा लगता हैं की Financial Education हमारे लिए बहुत ज्यादा इम्पोर्टेन्ट हैं और मै इसे सबसे पहले सिखुगा और आपको भी Recommend (सिफारिश ) करता हूँ की आप भी इसे सीखे क्योंकि ये शिक्षा आपको भविष्य में बहुत काम आने वाली हैं |

Rich dad poor dad in hindi Book ने मुझे पैसो के बारे में सिखाया है की ” पैसा कमाओ – बचाओ – निवेश करो | ” ये बुक Motivation और Money Management की बहुत अच्छी  Book हैं | ये बुक पैसो के बारे में हमारी जो पुरानी सोच है उसको बदलती हैं और बताती है की पैसा काम कैसे करता हैं|

ये बुक हर इंसान को अपनी जिंदगी में एक बार जरूर पढ़ना चाहिए और उसे भी जो अपनी Job छोड़ना चाहता है और खुद का Business करना चाहता हैं| जब आप इस बुक को पढ़ोगे तो इसमें लिखी गई बातो से आप अपनी असल जिंदगी को जुड़ता हुआ देखोगे |

दूसरे शब्दों में कहा जाये तो Middle class लोग और वो लोग जो अपनी जिंदगी में पैसो को लेकर Struggle ( संघर्ष ) कर रहे हैं उन्हें उनकी समस्याओं का समाधान इस किताब में मिलने वाला हैं जिससे वे सभी अपनी जिंदगी को आसान बना सकते हैं |

अगर आप Parents ( माता -पिता ) हो तो आप अपने बच्चो को यह किताब पढ़ने के लिए बोल सकते हो या आप पढ़कर उन्हें समझा सकते हो जिससे वो अपनी जिंदगी को सही Direction ( दिशा ) में सही ज्ञान (Knowledge ) के साथ आगे ले जा सकें |

आपके मन में एक सवाल जरूर आता होंगा कि क्यों अमीर और अमीर होता जा रहा है और गरीब और गरीब होता जा रहा है ? इसका जवाब आपको इस किताब में जानने को मिलेगा जिसे पूरी जानकारी के साथ आसान भाषा में बताया गया है |

आखिर में यही बोलना चाहुँगा कि “जो लोग अपनी जिंदगी में मालिक बनना चाहते हैं , नौकर नहीं ” उन्हें ये बुक जरूर जरूर पढ़नी चाहिए |

इसे पढ़ने के बाद इससे संबंधित अगर आपका कोई सवाल हो या कोई राय हो तो आप हमें Comment Section में बता सकते हो |

अगर आपको Rich dad poor dad in hindi Book का Review अच्छा लगा हैं तो आप इसे अपने दोस्तों और ऐसे लोगो को शेयर कर सकते हैं जिन्हे Books पढ़ना और उनके बारे में जानना पसंद हो |आपके Share करने से हमें Motivation मिलता हैं जिससे हम ऐसी ही जबरदस्त Books का Review आपके लिए लाते रहे |

अपना कीमती समय निकालकर इस Article को पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद |

 

1 thought on “Rich dad poor dad in hindi रिच डैड पुअर डैड – Book Review 2020”

Leave a Comment